Independence Day Special Shayari

Nafrat boori hai, na paalo issay,
Dilon mein Khwaish hai, nikalo issay,
Na tera, n mera, na isska, na uska
sabka batan hai, sambhalo issay.

नफ़रत बुरी है, न पालो इसे,
दिलों में ख़्वाब है, निकलो इसाय,
न तेरा, न मेरा, न उसका
न उस्का सबका बात है, संभालो इसे।
wo ab paani ko tarasenge jo ganga chhod aaye hai,
Hare jhande ke chakkar mein triranga chhod aaye hai.

वो अब पानी को तरासेंगे जो गंगा छोड़ आए हैं,
हरे झंडे के चक्कर में त्रिरंगा छोड़ आए हैं।
ganga yamuna narmada,
Mandir masjid ke sang giraja 
Santhi prem ki deta sikshya,
Mera bharat sada sarvada...

गंगा यमुना नर्मदा
मंदिर मस्जिद के संग गिरजा
शांति प्रेम की देता शिक्षा,
मेरा भारत सदा सर्वदा...
aan des ki saan des ki 
Des ki hum santan hai,
Tin rangon se ranga triranga 
Apni ye pehchan hai.

आन देस की सान देस की
देश की हम संतान है,
टिन रंगो से रंगा त्रिरंगा
अपनी ये पहचान है।
Is desh ke gourab ke khatir,
Chal kuch aisa kaam Karen,
Duniya dekhe iski saan,
Aur duniya wale salaam karein.

इस देश के गौरब के ख़तीर,
चल कुछ ऐसा काम करें,
दुनिया देखे इसकी सान,
और दुनिया वाले सलाम करें।